Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

CBSE Board Exams 2021 को लेकर  Students को जिस घड़ी का इंतजार था वह अब आ चुका है। Exams को लेकर आज Prime Minister Narendra Modi की अध्यक्षता में एक बैठक आयोजित की गई थी। इस बैठक में केंद्र सरकार ने फैसला लिया है कि Class 12 के Board Exams को रद्द किया जाएगा। बहुत समय से छात्रों और उनके Parents की यह मांग थी कि इन परीक्षाओं को रद्द किया जाए क्योंकि कोरोना महामारी की वजह से छात्र अभी इस मानसिक स्थिति में नहीं है कि वह Exams दे सकें। परीक्षाओं को Cancel करने की मांग न सिर्फ छात्रों और परिजनों की थी बल्कि दिल्ली सरकार समेत कई राज्यों सरकारों ने यह मांग की थी।

हालांकि, कुछ राज्य सरकारों ने इन परीक्षाओं को कराए जाने के पक्ष में भी अपने मत दिए थे। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के द्वारा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को एक पत्र लिखा गया था। जिसमें यह मांग की गई थी कि इस साल परीक्षाओं को रद्द कर पिछले साल की तरह Performance के आधार पर ही Students को marks दिए जाए।

2


Who attended the meeting?

इस उच्च स्तरीय बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अलावा केंद्रीय सूचना और प्रसारण मंत्री प्रकाश जावेडकर, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, केंद्रीय मंत्री अमित शाह, वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण, सीबीएसई(Central Board Of Secondary Education) के Chairman तथा शिक्षा मंत्रालय के स्कूली शिक्षा व उच्च शिक्षा सचिव भी शामिल थे। यह मीटिंग Video Conferencing के जरिए आयोजित की गई थी।

बता दे, इससे पहले 23 मई को भी एक High Level Meeting का आयोजन किया गया था। इस मीटिंग की अध्यक्षता रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने की थी। जिसमें राज्य सरकारों को परीक्षाओं कराए जाने को लेकर दो विकल्प दिए गए थे जिनमें से 75 फीसदी राज्यों का कहना था कि परीक्षाओं को दो बार करवाया जाए। इस मीटिंग में केंद्रीय शिक्षा मंत्री डॉ. रमेश पोखरियाल निशंक ने कहा था कि 12वीं बोर्ड परीक्षाओं को लेकर अंतिम फैसला 1 जून को या उससे पहले ही बता दिया जाएगा। लेकिन इससे पहले ही केंद्रीय मंत्री डॉ. रमेश पोखरियाल निशंक बीमार होने की वजह से एम्स में भर्ती हो गए थे। जिसके बाद 1 जून यानी कि आज पीएम मोदी ने 5:30 बजे बैठक बुलाई थी।

What did PM Modi say in the meeting?


  • प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि परीक्षाओं को लेकर लिया गया यह फैसला छात्रों के हितों को ध्यान में रखकर लिया गया  है। वे आगे कहते हैं कि कोरोना महामारी ने शैक्षणिक कैलेंडर और Issue Of Board Exams को प्रभावित किया है। परीक्षाओं की वजह से Students, parents और Teachers भी मानसिक तनाव से गुजर रहे थे इसलिए इसे खत्म किया जाना चाहिए था।
  • प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मीटिंग में कहा कि Students की Health उनकी Priority है और इससे समझौता नहीं किया जाएगा।
  • कोरोना महामारी की वजह से ना सिर्फ Parents बल्कि Teachers और Students अपनी Health को लेकर चिंतित हैं। ऐसे में इस तरह की स्थिति में बोर्ड एग्जाम दिए जाने का दबाव नहीं डालना चाहिए।
  • पीएम मोदी ने यह भी कहा कि Stakeholders को छात्रों के प्रति संवेदनशीलता दिखानी चाहिए। इसके साथ ही पीएम मोदी ने अधिकारियों को यह निर्देश दिए हैं कि Results को उचित मानदंडों के अनुसार निष्पक्ष और समय रहते तैयार किया जाना चाहिए।
4


Results To be Evaluated on Objective Criteria:

परीक्षाओं के Cancel होने के बाद Students तो एक चिंता से तो मुक्त हो चुके हैं। लेकिन उनको अभी भी एक और चिंता सता रही है। उनका संशय है कि अगर एग्जाम नहीं होंगे तो उन्हें किस आधार पर Marks दिया जाएगा? इस विषय पर सीबीएसई ने अपना मत जाहिर करते हुए कहा है कि एक उचित Criteria  का पालन करके Students की Marking की जाएगी जिसके आधार पर रिजल्ट तैयार किया जाएगा। 

वही कुछ समय पहले ही CBSE और CISCE ने कक्षा 12 के छात्रों के कक्षा 9वीं 10वीं 11वीं में दिए गए प्रदर्शन डाटा को जमा करने को कहा है। इससे यह अंदाजा लगाया जा सकता है कि कक्षा 12 के छात्रों को अंक उनके Internal assessment और पिछले 3 वर्षों के प्रदर्शन के आधार पर दिए जाएंगे।


There Will Be an Option to take The exam later:

पिछली बार जैसे छात्रों को Exams देने का विकल्प दिया गया था। इस बार भी छात्रों को यह विकल्प दिया गया है। जो छात्र अपने Marks से संतुष्ट नहीं होंगे वह एग्जाम देने का विकल्प चुन सकते हैं। जब स्थितियां अनुकूल होगी तब छात्र परीक्षा दे सकेंगे।

12वीं कक्षा के बोर्ड Exams को Cancel करने के लिए सुप्रीम कोर्ट में भी सुनवाई चल रही थी। कोर्ट ने इस मामले में कहा था कि जिस तरह पिछले साल बोर्ड परीक्षाओं को रदद् करने का निर्णय लिया गया था अगर इस बार भी यही निर्णय लिया जाता है, तो इसका उचित कारण बताना होगा।

5

इसके अलावा सुप्रीम कोर्ट में 300 छात्रों ने मुख्य न्यायाधीश के नाम एक पत्र लिखा। इस पत्र में छात्रों ने उन्हें परीक्षाओं के आयोजन को लेकर स्वत: संज्ञान लेने और इन परीक्षाओं को रद्द करने की अपील की थी।

आपको बता दें, इससे कुछ समय पहले ही Class 10 के छात्रों के Exams को Cancel कर दिया गया था। वहीं Class 12 की परीक्षाओं को निर्धारित तिथि से पहले ही स्थगित कर दिया गया था जिसके बाद से यह अटकलें लगाई जा रही थी कि एग्जाम करवाए जाएंगे या नहीं? आज उन अटकलों को विराम लग चुका है। कोरोना महामारी को देखते हुए केंद्र सरकार ने बड़ा फैसला लेते हुए Board Exams के आयोजन पर विराम लगा दिया है।

By – Bharti

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.

So this is the end of the post CBSE Class 12th Board Exam 2021 Cancelled. Hope You Enjoyed it. Here are more Career Related Blog Posts.